JalandharPoliticalPunjab

पंडित जी दुनिया को पूंजीवाद या साम्यवाद नहीं बल्कि मानववाद की जरूरत का दिया नारा—अश्वनी शर्मा

पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी के जयंती पर अश्वनी शर्मा ने की पुष्पांजली अर्पित

पं. दीन दयाल उपाध्याय जी की जयंती पर जालंधर में सुशील कुमार की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित
जालंधर: 25 सितंबर (अमरजीत सिंह लवला)
देश के प्रसिद्ध चिंतक, लेखक, पत्रकार और एकात्म मानववाद तथा अंत्योदय के प्रवर्तक, भारतीय जनसंघ के संस्थापक सदस्य पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की 105वीं जयंती के उपलक्ष्य पर भारतीय जनता पार्टी, जालंधर के अध्यक्ष सुशील कुमार की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी, पंजाब के प्रदेश अध्यक्ष अश्वनी शर्मा विशेष रूप से उपस्थित हुए तथा पंडित जी को पुष्पांजली भेंट की। इस अवसर पर प्रदेश महासचिव जीवन गुप्ता, राजेश बागा, प्रदेश उपाध्यक्ष राकेश राठौर, प्रदेश सचिव अनिल सच्चर, केडी भंडारी, पूर्व मेयर ज्योति, दीवान अमित अरोड़ा, रमेश शर्मा, अमरजीत अमरी, रमण पब्बी, वसिम राजा सहित कई भाजपा कार्यकर्ताओं ने पंडित जी को अपने श्रद्धासुमन अर्पित किए।
अश्वनी शर्मा ने इस अवसर पर उपस्थित कार्यकर्ताओं के समक्ष पंडित जी के जीवन तथा उनकी कार्यशैली पर प्रकाश डालते हुए अपने संबोधन में कहा कि हमे गर्व है कि हम उस पार्टी के कार्यकर्ता हैं, जिस पार्टी ने जनसंघ के समय से देश के लिए सबसे ज्यादा जीवन बलिदान किये है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विचारक व जनसंघ के सह-संस्थापक पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी और कहाकि दुनिया को पूंजीवाद या साम्यवाद नहीं, बल्कि मानववाद की जरूरत है। शर्मा ने कहा कि पंडित जी का कहना था कि हिंदू कोई धर्म या संप्रदाय नहीं, बल्कि भारत की राष्ट्रीय संस्कृति है। पंडित जी राजनेता होने के साथ-साथ एक पत्रकार और लेखक भी थे, जिन्होंने निस्वार्थ राष्ट्र की सेवा करके अपना बलिदान देकर राष्टनिर्माण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।
अश्वनी शर्मा ने कहाकि पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने जनसंघ ने पूर्व प्रधानमंत्री श्रधेय अटल बिहारी वाजपेयी जैसे नेता दिए, जिन्होंने देश को परमाणु शक्ति सम्पन देश बनाया। भाजपा की नींव जनसंघ के तौर पर रखने, संघ को राजनीति के क्षेत्र में अप्रत्यक्ष रूप से मदद करने में पंडित जी ने एक ऐसे स्तम्भ के तौर पर काम किया, जिनके बिना ये मुमकिन ही नहीं था। अश्वनी शर्मा ने कहा कि पंडित जी ने हमें जो मूलमंत्र दिया है, आज देश के प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी भी उसी मूलमंत्र को आगे बड़ा रहे है कि मै तब तक व्यर्थ नही बैठ सकता, जब तक कि पंक्ति मे खड़े आखिरी व्यक्ति का जीवन सर्वसुविधा संपन्न नही बना देता। मोदी सरकार का एक ही नारा है ‘सबका साथ-सबका विकास’ और इसी लक्ष्य को लेकर मोदी सरकार आगे बढ़ रही है और कई जन-हितैषी योजनाओं की शुरुआत कर उसकी सुविधा हर आदमी तक पहुँचाने में प्रयासरत्त है।
अश्वनी शर्मा ने कहाकि भारतीय जनता पार्टी ही एकमात्र पार्टी है। जिसमे कार्यकर्ता निस्वार्थ और पार्टी के प्रेरणसत्रोत रहे नेताओ व देश भक्ति की भावना से प्रेरित होकर पार्टी मे सेवा करने का काम मांगता है, ताकि देश के मान-सम्मान को और बढ़ाने के लिए योगदान दे सके और मां भारती की सेवा कर सके। अश्वनी शर्मा ने सभी को पंडित जी के दर्शाए मार्ग पर चल कर देश-सेवा के लिए बढ़-चढ़ कर भाग लेने का आह्वान किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!